राकेश टिकैत पहुंचे बंगाल: जाने किसान आंदोलन को लेकर क्या बोले मोदी सरकार के खिलाफ

0

अलख भारत: बंगाल के विधानसभा चुनाव (Bengal Assembly Elections 2021 ) में पहले से ही सियासी घमासान चला हुआ है, क्या किसान आंदोलन को चला रहे नेताओं की दस्तक पश्चिम बंगाल के सियासी घमासान में और तेजी लाएगी। किसान नेता राकेश टिकैत (Farmer leader Rakesh Tikait) शनिवार को बंगाल पहुंच गए। कोलकाता के भवानीपोरा (Bhawanipora of Kolkata) में आयोजित किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) रैली को सम्बोधित करते हुए किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि “हम यहाँ इसीलिए आये है कि उन्हें पता चला है दिल्ली की सरकार बंगाल चुनाव में आई हुई है और हम यहाँ उससे मिलने आये हैं।”

100 दिनों से ज्यादा हो चले आंदोलन का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार अगर किसानों की बात नहीं मानेगी तो हम पूरे देश में जाएंगे और किसानों को जागरूक करेंगे। टिकैत ने कहा वे लोग बंगाल में बीजेपी सरकार के विरोध स्वरूप आये हैं। साथ में ये अपील करने आये कि इस चुनाव में बीजेपी को छोड़ किसी को वोट डाले ताकि सरकार को किसान मजूदरों की वोट की कीमत का पता चल सके। बंगाल को धरती क्रांतिकारियों की धरती कहा जाता है हम इस धरती से किसान आंदोलन की लड़ाई को आगे बढ़ाने आये हैं। हम इस बात पर कायम हैं कि जब तक कानून वापसी नहीं, तब तक घर वापसी नहीं।

इस आंदोलन के दौरान सैकड़ों किसान अपनी शहादत दे चुके हैं लेकिन सरकार के पास किसानों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करने तक का वक्त नहीं है। टिकैत ने कहा कि देश में कम्पनी राज चल रहा है। इसने पूरे देश को बर्बाद करने का काम किया हैं। इसका एक ही तरीका है कि इनको सत्ता से बाहर करना पड़ेगा , शायद यहीं एक तरीका बचा है। किसान आंदोलन को लेकर अभी तो 8 और महीने चलाने के लिए भी तैयार हैं। जहाँ भी पीएम मोदी जाएंगे, हम उन्हें फॉलो करेंगे। यहाँ पर किसान नेता अलग अलग जगह पर किसान महापंचायत करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here