सीएम अमरिंदर ने सिद्धू को लंच पर बुलाया, सिद्धू को सियासी मुख्यधारा में फिर से लाने के प्रयास में जुटी कांग्रेस

0
सीएम अमरिंदर ने सिद्धू को लंच पर बुलाया, सिद्धू को सियासी मुख्यधारा में फिर से लाने के प्रयास में जुटी कांग्रेस

चंडीगढ़ : अगले साल (2022) पंजाब में विधानसभा चुनाव (Assembly elections in Punjab) होने हैं। इसको लेकर कांग्रेस पंजाब में आपने किले को और मजबूती देने का प्रयास अभी से शुरू कर दिए हैं। जिसके चलते कांग्रेस आलाकमान एक बार फिर से पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिद्धू (Former cricketer Navjot Sidhu) को सियासी मुख्यधारा में लाने का मन बना चुकी है।

गौरतलब है कि सिद्धू और सीएम कैप्टन के बीच के मतभेद के चलते सिद्दू सियासी मुख्यधारा से खुडडे लाइन लगे हुए हैं। सिद्धू और कैप्टन (Sidhu and Captain) के बीच के मतभेद खत्म कराने की कोशिश की ओर आगे बढ़ते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) ने नवजोत सिद्धू (Navjot Sidhu) को बुधवार को लंच न्यौता दिया दिया है।

सियासी पंडित इसे लंच डिप्लोमेसी (Lunch diplomacy) बता रहे हैं। लंच के कैप्टन के सिसवां फार्म हाउस (Siswan Farm House) को चुना गया है। गौरतलब है कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा देने के बाद सिद्धू पिछले 4 महीनों में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से दूसरी बार मिलेंगे। बीते साल 25 नवंबर को भी दोनों की लांच के बहाने औपचारिक मुलाकात हुई थी। दूसरी मुलकात की पठकथा अबकी बार पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत (Harish Rawat, Congress in-charge of Punjab) ने लिखी की है।

हरीश रावत हाल में पंजाब दौरे पर थे इस दौरान उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं की नब्ज टटोली थी जिसके बाद आपस में मतभेद सामने आये थे। सो इसके बाद ये मतभेद खत्म करने की योजना बनाई गई।

याद रहे कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Chief Minister Captain Amarinder Singh) ने नवजोत सिद्धू (Navjot Sidhu) के बीच लम्बे वक्त से नाराजगी चल रही है। कैप्टन सरकार पर विभाग सही से न संभाल पाने का आरोप के बाद सिद्धू ने जुलाई 2019 में दूरी बना ली थी। कैप्टन ने मंत्रिमंडल में फेरबदल के बहाने सिद्धू के पर कतर दिए थे। इस बाद नाराज सिद्धू नेअपने कैबिनेट मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here