“अपना भारत मोर्चा” की नाव पर क्या सियासी नदी पार कर पायंगे तंवर

0
अपना भारत मोर्चा डॉ अशोक तंवर

दिल्ली: कांग्रेस से खफा हरियाणा कांग्रेस के पूर्व प्रदेशध्यक्ष डॉ अशोक तंवर ने आखिर नया सियासी मोर्चा बना ही लिया। अपने सियासी मोर्चे का नाम अपना भारत मोर्चा रखा है। अशोक तंवर ने अपने भाषण में हुड्डा का बिना नाम लिए अपना दर्दे दिल भी साँझा किया। डॉ अशोक बोले – मजबूरी में कांग्रेस को छोड़ना पड़ा है। बीजेपी राज्य सभा में बहुमत में नहीं है सो इसके चलते भी बिल पास हो रहे हैं। क्या जनता ने उनको इसी के लिए वहां भेजा है।

लगभग 30 मिनट के अपने भाषण में अशोक तंवर कोई जादुई संवाद नहीं कर पाए। भाषण में शामिल सब बातें पहले भी कई दफा उनके मुंह से मंचों पर बोली जा चुकी हैं। हरियाणा कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष तंवर ने मोर्चे का एलान करते हुए कहा कि “अपना भारत मोर्चा ” के माध्यम से देश की तस्वीर बदली जाएगी।

तंवर ने कहा की अब देश भर में बैठकों दौर शुरू होगा जिसके माध्यम से लोगों को जोड़ने के लिए अभियान चलाया जायेगा। उसके मंथन कर रूपरेखा तैयार की जाएगी। तंवर ने हरियाणा सरकार और हुड्डा पर बोलते हुए कहा कि प्रदेश में गूंगा विपक्ष और बहरी सरकार कुल मिलाकर अशोक तंवर के सामने खुद और खुद के मोर्चे को सही सबित करने की सबसे बड़ी चुनौतियां होगी। ऐसे में वो कैसे पार पाएंगे इसके लिए सिवाय इन्तजार के फिलहाल कुछ नहीं किया जा सकता है। क्या नए मोर्चे में सवार होकर सियासी नदी पार कर पायगे अशोक तंवर ?

इसे भी पढ़े : राकेश टिकैत ने पत्रकार स्टाइल में लिया बाजरा बेचने जा रहे किसानों का इंटरव्यू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here